Delhi

Plasma Bank in Delhi/आईएलबीएस अस्पताल में देश का पहला प्लाज्मा बैंक आज शुरू

कोरोना वायरस से गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। दिल्ली सरकार ने आईएलबीएस अस्पताल में देश का पहला प्लाज्मा बैंक आज शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना से 14 दिन पहले ठीक हो चुके 18 से 60 साल के उम्र के स्वस्थ्य लोग ही शर्तों को पूरा करने के बाद प्लाज्मा दान कर सकेंगे। दूसरी गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोग और जिंदगी में कभी भी प्रिग्नेंट हो चुकी महिलाएं प्लाज्मा दान नहीं कर सकते हैं। प्लाज्मा दान करने के लिए दिल्ली सरकार की तरफ से जारी हेल्पलाइन नंबर 1031 पर फोन या 8800007722 नंबर पर वाट्सएप कर पंजीकरण करा सकते हैं। डोनर को अस्पताल लाने के लिए गाड़ी भेजी जाएगी या फिर वह अपने वाहन या टैक्सी से भी आ सकता है, उसका खर्च सरकार देगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपील की है कि प्लाज्मा के लिए मरीज या उसके परिजन न संपर्क करें, डाॅक्टर के प्रिसक्रिप्शन पर ही अस्पताल को प्लाज्मा दिया जाएगा। प्लाज्मा दान करने वाले को दिल्ली सरकार की तरफ से गौरव पत्र दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि दिल्ली में आज से प्लाज्मा बैंक शुरू हो रहा है। कोरोना के इलाज के लिए यह शायद देश का पहला प्लाज्मा बैंक है। अभी तक लोगों को प्लाज्मा लेने में काफी दिक्कत हो रही थी। जानकारी मिल रही है कि दिल्ली में प्लाज्मा को लेकर काफी अफरा-तफरी मची हुई है। हम उम्मीद करते हैं कि इस प्लाज्मा बैंक के बन जाने के बाद लोगों की परेशानी दूर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि यह प्लाज्मा बैंक तभी सफल होगा, जब लोग आगे आकर प्लाज्मा दान करेंगे। यदि प्लाज्मा दान नहीं करेंगे, तो आगे किसी को प्लाज्मा नहीं दिया जा सकेगा। इसलिए सबसे अधिक जरूरी है कि जो लोग कोरोना से ठीक हो गए हैं, ज्यादा से ज्यादा वे लोग आगे आकर प्लाज्मा डोनेट करें।

प्लाज्मा दान करने के लिए योग्यता की शर्तें काफी सख्त

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्लाज्मा डोनर के लिए योग्यता काफी सख्त है। कौन लोग प्लाज्मा दे सकते हैं? इसके लिए सबसे पहले डोनर को कोरोना हुआ होना चाहिए। आप बीमारी से ठीक हो गए हैं और आपको ठीक हुए कम से कम 14 दिन हो गए हों। आपकी उम्र 18 से 60 साल के बीच होना चाहिए। आपका वनज 50 किलो से कम नहीं होना चाहिए। महिलाएं, जो जिंदगी में कभी भी एक बार प्रिग्नेंट हुई हैं, वो प्लाज्मा दान नहीं दे सकती हैं। जिनको सुगर की बीमारी है और इंसुलिन लेते हैं या जिन लोगों की सुगर स्थिर नहीं है, वो लोग प्लाज्मा नहीं दे सकते हैं। जिनको हाइपरटेंशन की बीमारी है या बीपी 140 के उपर है, वो भी नहीं दे सकते हैं। जिन्हें कैंसर पीड़ित, क्रोनिक किडनी, हार्ट या फेफड़े की बीमारी है, वो भी प्लाज्मा नहीं दे सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में अभी तक 58 हजार लोग कोरोना से ठीक हुए हैं, लेकिन यह सारे लोग कल तक ठीक हुए हैं। 14 दिन पहले जो लोग ठीक हुए हैं और उसमें इतनी सारी शर्तों को पूरा करने के बाद बहुत कम लोग बचेंगे। इसलिए लोगों को सामने आकर प्लाज्मा डोनेट करना पड़ेगा। जिंदगी में बहुत कम मौके मिलते हैं, जब आप किसी की जान बचा सकते हैं। भगवान ने आपको मौका दिया है, तो आप जरूर सामने आकर किसी की जान बचाइएगा।

प्लाज्मा दान करना काफी सुरक्षित, नहीं होती कोई कमजोरी

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि खून देने में थोड़ी कमजोरी आ सकती है, लेकिन प्लाज्मा देने में जरा सी भी कमजोरी नहीं आती है। प्लाज्मा दान करना बहुत ही सुरक्षित और साधारण है। यदि आप योग्य हैं। आपको कोरोना हुआ था, आपको ठीक हुए 14 दिन से अधिक समय हो गया है और आप प्लाज्मा दान करने के लिए तैयार हैं, तो आप दिल्ली सरकार की तरफ से जारी नंबर 1031 पर काॅल करके हमें बता सकते हैं। 1031 पर काॅल करते ही आप पंजीकृत हो जाएंगे। इसके अलावा, आप 8800007722 नंबर पर वाट्सऐप कर सकते हैं। आपके पंजीकरण के बाद आपका मोबाइल नंबर हमारे पास आ जाएगा। इसके बाद दिल्ली सरकार से डाॅक्टर का फोन आपके पास जाएगा। डाॅक्टर आपसे बात करेंगे और बातचीत कर आपकी योग्यता को जानेंगे। वह सभी मानकों पर जांचेंगे कि आप योग्य हैं या नहीं हैं। यदि आप योग्य हैं, तो आपकी सुविधा के हिसाब से प्लाज्मा दान करने का समय तय कर लिया जाएगा। दिल्ली सरकार के आईएलबीएस अस्पताल में प्लाज्मा बैंक बनाया जा रहा है। निर्धारित समय पर आपके घर पर गाड़ी भेज दी जाएगी या फिर आप अपनी गाड़ी या टैक्सी से आना चाहते हैं, तो उसका पैसा भी दे दिया जाएगा। आप जब आईएलबीएस अस्पताल में पहुंचेंगे, तब आपका बेसिक जांच की जाएगी और इसके बाद प्लाज्मा लिया जाएगा। प्लाज्मा लेने में 45 मिनट से एक घंटे तक का समय लगता है। इसके बाद दिल्ली सरकार की तरफ से एक गौरव पत्र दिया जाएगा कि आपने समाज के लिए योगदान दिया है। इसके लिए आपको बहुत-बहुत शुक्रिया। प्लाज्मा दान करने की यह एक छोटी सी प्रक्रिया है।

प्लाज्मा के लिए मरीज डाॅक्टर के जरिए आईएलबीएस अस्पताल से संपर्क करें

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जो लोग प्लाज्मा लेना चाहते हैं, जिनके मरीज अस्पताल में है और डाॅक्टर कहते हैं कि प्लाज्मा चाहिए। तब मरीज या उनके परिजन प्लाज्मा के लिए 1031 नंबर पर फोन न करें। जिनको प्लाज्मा चाहिए, उनको डाॅक्टर ही सुझाव देंगे और वही डाॅक्टर आईएलबीएस अस्पताल से संपर्क करेंगे। इसके बाद अस्पताल को डाॅक्टर की प्रिसक्रिप्शन पर प्लाज्मा डोनेट किया जाएगा। व्यक्तिगत तौर पर कोई भी व्यक्ति आईएलबीएस अस्पताल या जारी मोबाइल नंबर पर फोन न करें। वो सभी लोग अस्पताल के जरिए संपर्क करें। चाहे वह अस्पताल दिल्ली सरकार, एमसीडी, केंद्र सरकार या प्राइवेट हो, उन सभी अस्पतालों को प्लाज्मा दिया जाएगा। कोई भी अस्पताल हो, यदि डाॅक्टर प्रेसक्राइब करते हैं, तो उनको प्लाज्मा दिया जाएगा। पिछले कुछ दिनों में कोरोना से हो रही मौतों में कमी आई है। जून के महीने में एक दिन तो 125 के करीब मौतें हुई है, लेकिन अब 60 से 65 मौतें हो रही हैं। लगभग आधी हो गई है। अभी इसको और भी कम करना है। अभी कोरोना की बैक्सीन नहीं आई है। जब तक बैक्सीन नहीं आती है, तब तक प्लाज्मा मददगार साबित होगा। मै यह नहीं दावा कर रहा है कि प्लाज्मा से सभी मौतें रूक जाएंगी, लेकिन इतनी जरूर हम लोग उम्मीद करते हैं कि कोरोना से हो रही मौत में कमी आएगी। लोग स्वास्थ होकर अपने घर लौटेंगे।

मीडिया से अपील, लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रेरित करें

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैने सुना है कि महाराष्ट्र में बहुत बड़े स्तर पर प्लाज्मा थेरेपी के ट्रायल शुरू हुए हैं। इसके अलावा कुछ राज्य दिल्ली की तरह ही प्लाज्मा बैंक बनाने जा रहे हैं। यह बहुत खुशी की बात है। यह एक ऐसी बीमारी है कि इससे सभी लोगों को एक-दूसरे से सीखने की जरूरत है। हम लोग भी देखना चाहेंगे कि महाराष्ट्र के क्या अनुभव होते हैं। मैं महाराष्ट्र की सरकार को बधाई देना चाहता हूं। जो राज्य भी यह शुरू करने जा रहे हैं, उन सभी को हम बधाई देना चाहते हैं। उनके अनुभवों से हम और हमारे अनुभवों से वो लोग सीखेंगे। इसमें सबसे महत्वपूर्ण है कि जो लोग कोरोना से ठीक हो गए हैं और जो योग्य है, वह एक-एक व्यक्ति अपना प्लाज्मा दान करे। इसमें हमें मीडिया की जरूरत पड़ेगी। सभी मीडिया से हमें उम्मीद है कि आप इस पर जोर शोर से अभियान चलाएं और लोगों की गलतफहमियों को दूर कीजिए। लोगों को उत्साहित करें कि ज्यादा से ज्यादा लोग आकर प्लाज्मा दान करें, ताकि दूसरे लोगों की जान बचाई जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.