BUSINESS Uttar Pradesh

एन.ई.ए ने मुख्य मंत्री योगी को पत्र लिखा डीजल जेन सेट से पी.एन.जी. में कनवर्ट कराने के निर्देश से उध्यमियों की परिस्थितियो से अवगत करवाया

उद्योगों की माली हालत ठीक नही है और वे डीजल जेन सेट को पी.एन.जी. में कन्वर्ट करने के लिए किसी भी अतिरिक्त खर्चे को वहन करने की स्थिति में नही- विपिन मलहान

वर्तमान में कोविड-19 जैसी महामारी के कारण उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुए है उद्यमियों को अपना उद्योग सुचारू रूप से चलाने हेतु काफी समय लगेगा एंव आर्थिक मदद की आवश्यकता है, ऐसे समय में श्री भूरेलाल जी, अध्यक्ष, पर्यावरण, प्रदूषण नियंत्रण अधिकरण द्वारा उद्योगों को डीजल जेन सेट चलाने पर दिनांक 15.10.2020 से रोक लगाने के निर्देश दिये गये हैं, महोदय जेन सेट से पी.एन.जी. में कनवर्ट कराने मे बहुत खर्च आता है । जिसका खर्च वहन करने में वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए उद्यमी अस्मर्थ है । मान्यवर हम आपके संज्ञान में लाना चाहते हैं एन0सी0आर0 में कुल प्रदूषण का एक चौथाई प्रदूषण सड़कों पर चलने वाले वाहनों से होता है यदि वायु गुणवत्ता हो बनाये रखना है तो इसके लिए सर्वप्रथम यातायात को कम करना होगा जैसे कि सरकारी विभागों के कार्यालय तथा औद्यौगिक इकाईयों के खुलने तथा बंद होने के समय में परिवर्तन, शहर के चौराहों पर लगी रेड़ लाईट की समय -सीमा निर्धारित करना होगा । पीक अवर्स होने के कारण सड़क पर जाम लग जाता है और वाहनों से निकलने वाले धुंए से प्रदूषण बढ़ने के साथ-साथ यातायात भी प्रभावित होता है ।

मान्यवर बढते प्रदूषण से उद्यमी भी चिंतित हैं वर्तमान में उद्योगों की माली हालत ठीक नही है और वे डीजल जेन सेट को पी.एन.जी. में कन्वर्ट करने के लिए किसी भी अतिरिक्त खर्चे को वहन करने की स्थिति में नही है । अतः हमारा आपसे अनुरोध है कि जेन सेट को डीजल से पी0एन0जी0 में कन्वर्ड कराने में जो भी खर्च आता है उस पर तथा नये जेन सैट की खरीद पर सरकार द्वारा सबसिडी दी जाए, तथा पी0एन0जी0 कनेक्शन हेतु किसी भी प्रकार की सिक्योरिटी की मॉग न की जाए यदि आवश्यक हो तो एक माह के बिल के बराबर ही सिक्योरिटी राशि ली जाए । मान्यवर यदि पी0एन0जी0 एजेंसी तथा सरकार उद्यमियों की उपरोक्त समस्याओं का निवारण कर दे तो उद्यमी पी0एन0जी0 से अपना उद्योग चलाने को सहर्ष तैयार है। अतः हमारा अनुरोध है कि अध्यक्ष पर्यावरण, प्रदूषण नियंत्रण अधिकरण द्वारा उद्योगों को डीजल जेन सेट चलाने पर दिनांक 15.10.2020 से रोक लगाने के निर्देश को वापिस लिया जाए तथा विद्युत सप्लाई रूकने पर डीजल जेन सैट चलाने की अनुमति दी जाए । यदि विद्युत विभाग उद्योगों को 24 घंटे निवार्ध विद्युत आपूर्ति बहाल कर दे तो उद्यमियों को डीजल से चलने वाले जेन सेट लगाने की आवश्यकता ही नही पड़ेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *