NATIONAL

NATIONAL VOTER’S DAY: “राष्ट्रीय मतदाता दिवस” क्यो मनाते है,और इसका महत्व क्या है? जानिये इस रिपोर्ट मे… -हरीश जैन

-हरीश जैन

देश भर में आज राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2021 मनाया जा रहा है। इस दिवस का उद्देश्य मतदाताओं विशेषकर नये मतदाताओं को प्रोत्साहन और सुविधा देने के साथ-साथ अधिक से अधिक संख्‍या में मतदाता सूची में उनको नामांकन के लिए प्रेरित करना है।

भारत के निर्वाचन आयोग की स्थापना  के उपलक्ष्य में हर साल 25 जनवरी को देशभर में राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नई दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय समारोह में मुख्य अतिथि होंगे।

इस वर्ष के राष्ट्रीय मतदाता दिवस का मुख्य विषय देश के मतदाताओं को सशक्त, सतर्क, सुरक्षित और जागरूक बनाना है। कोविड-19 महामारी के दौरान चुनावों के सुचारू आयोजन के लिए चुनाव आयोग की प्रतिबद्धता को भी इस दिवस के माध्यम से रेखांकित किया जाएगा। राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर देशभर के मतदाताओं के बीच जागरूकता फैलाई जायेगी और चुनाव प्रक्रिया में लोगों की भागीदारी को बढ़ावा दिया जायेगा।

इस कार्यक्रम के दौरान, भारत के माननीय राष्ट्रपति वर्ष 2020-21 के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करेंगे और भारत निर्वाचन आयोग के वेब रेडियो का शुभारंभ करेंगे। इस नए वेब रेडियो का नाम है ‘हैलो वोटर’।

सर्वोत्तम निर्वाचन पद्धतियों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार राज्य और जिला स्तर के अधिकारियों को आईटी पहल, सुरक्षा प्रबंधन, कोविड-19 के दौरान चुनाव प्रबंधन, सुलभ चुनाव और मतदाता जागरूकता और आउटरीच के क्षेत्र में योगदान जैसे विभिन्न क्षेत्रों में चुनाव के संचालन में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रदान किया जाएगा । मतदाता जागरूकता के प्रति बहुमूल्य योगदान देने के लिए सीएसओ और प्रतिष्ठित मीडिया समूहों जैसे महत्वपूर्ण हितधारकों को राष्ट्रीय पुरस्कार भी दिए जाएंगे ।

भारत निर्वाचन आयोग का वेब रेडियो:हैलो वोटर”

यह ऑनलाइन डिजिटल रेडियो सेवा मतदाता जागरूकता कार्यक्रमों को स्ट्रीम करेगी । यह भारत निर्वाचन आयोग की वेबसाइट पर एक लिंक के माध्यम से सुलभ होगा। रेडियो हैलो वोटर को लोकप्रिय प्रोग्रामिंग शैली एफएम रेडियो सेवाओं की तर्ज पर परिकल्पित किया गया है। इसमें देश भर से हिंदी, अंग्रेजी और क्षेत्रीय भाषाओं में गीत, नाटक, चर्चा, स्पॉट, चुनाव की कहानियां आदि के माध्यम से चुनावी प्रक्रियाओं की जानकारी और शिक्षा प्रदान की जाएगी।

 

–  लेखक भारतीय संसद में कार्यरत हैं।

Leave a Reply