Others

मांगलिक कार्यों के शुभ मुहूर्त 14 दिसंबर तक , फिर चार महीने नहीं गूजेगी शहनाई

देवउठनी एकादशी 25 नवंबर से शुरू हुए मांगलिक कार्यों के शुभ मुहूर्त 14 दिसंबर सोमवार को खत्म हो जाएंगे। 14 तारीख तक ही भूमि पूजन, भवन प्रवेश, सगाई विवाह आदि मांगलिक कार्य हो सकेंगे। वहीं शादियों के लिए 11तारीख यानि कल शुक्रवार को इस साल 2020 का आखिरी शुभ मुहूर्त है। फिर नए साल 2021 में 17 अप्रैल तक शुभ कार्य नहीं होंगे।

ज्योतिषाचार्य बताते है कि  11 दिसंबर तक शादियों के लिए मुहूर्त हैं। 14 दिसंबर को अन्य शुभ कार्यों के मुहूर्त हैं। फिर सूर्य के धनु राशि में आने से खर मास शुरू हो जाएगा, जो 14 जनवरी 2021 तक रहेगा। खर मास में विवाह आदि शुभ मुहूर्त नही होते है। इसके बाद 19 जनवरी को गुरू तारा अस्त हो जाएगा, जो 16 फरवरी तक अस्त ही रहेगा। 16 फरवरी से 17 अप्रैल तक शुक्र ग्रह अस्त रहेगा। इस कारण 11 दिसंबर के बाद अगले चार महीने तक विवाह के लिए शुभ मुहूर्त पर रोक रहेगी।

ज्योतिषाचार्य बताते है  कि 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी के साथ शुभ मुहूर्त शुरू हुए थे। 15 दिसंबर को रात 9.31 बजे सूर्य का धनु राशि में प्रवेश होने से धनुर्मास प्रारंभ हो जाएगा, जो 14 जनवरी तक रहेगा। इसके कारण मुहूर्त नहीं हो गया।

15 दिसंबर को सूर्य धनु राशि में आ जाएगा। 16 दिसंबर से मलमास शुरू हो जाएगा, यह 14 जनवरी तक रहेगा। 19 जनवरी को गुरु तारा अस्त हो जाएगा और 16 फरवरी तक अस्त रहेगा।

खरमास और गुरु ग्रह अस्त होने पर विवाह नहीं होते हैं। इस कारण 11 दिसंबर के बाद 18 अप्रैल तक शुक्र ग्रह अस्त रहेंगा, इसके चलते अगले चार महीने तक विवाह के लिए शुभ मुहूर्त नहीं हैं।

Leave a Reply