NATIONAL

इस वर्ष गणतंत्र दिवस एनसीसी शिविर में 700 से अधिक लड़कियों सहित 2,150 से अधिक कैडेट भाग लेंगे

दिल्ली कैंट के करियप्पा परेड ग्राउंड में शुरू हुए 74वें राष्ट्रीय कैडेट कोर (NCC) गणतंत्र दिवस शिविर RDC-2023 में यूथ एक्सचेंज प्रोग्राम के अंतर्गत 19 मित्र देशों के कैडेट और अधिकारी भाग लेंगे। सभी 28 राज्यों एवं 8 केंद्र शासित प्रदेशों की 710 लड़कियों सहित कुल 2,155 कैडेट एक महीने तक चलने वाले इस कैंप में भाग ले रहे हैं। यह बात एनसीसी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने दिनांक 06 जनवरी, 2023 को नई दिल्ली में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में कही।

RDC 2023 में भाग लेने 19 मित्र देशों से आ रहे है कैडेट

मीडियाकर्मियों से बातचीत करते हुए एनसीसी के DG ने इस बात पर प्रकाश डाला कि RDC 2023 में भाग लेने वाले कैडेट और अधिकारी यूएसए, यूके, अर्जेंटीना, ब्राजील, मंगोलिया, रूस, किर्गिज गणराज्य, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान, नेपाल, मालदीव, मोजाम्बिक, मॉरीशस, सेशेल्स, सूडान, न्यूजीलैंड, फिजी और वियतनाम सहित 19 मित्र देशों से हैं। यह किसी भी गणतंत्र दिवस शिविर में विदेशी कैडेटों की अब तक की सर्वाधिक भागीदारी है।

कुल 2155 कैडेट्स में से 114 कैडेट जम्मू-कश्मीर और लद्दाख से हैं और 120 कैडेट उत्तर पूर्व क्षेत्र (एनईआर) से आते हैं। देश भर से आए कैडेट्स के साथ यह शिविर ‘मिनी इंडिया’ को व्यक्त करता है।

लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने कहा कि शिविर में भाग लेने वाले कैडेट सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं, राष्ट्रीय एकता जागरूकता कार्यक्रमों और विभिन्न संस्थागत प्रशिक्षण प्रतियोगिताओं जैसी अनेक गतिविधियों में भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि दिनांक 26 जनवरी 2023 को गणतंत्र दिवस परेड में दो एनसीसी मार्चिंग दल भाग लेंगे। इस असंख्य और चुनौती वाली गतिविधियों का समापन दिनांक 28 जनवरी 2023 की शाम को पीएम की रैली के साथ होगा।

https://i0.wp.com/static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image001SCVM.jpg?resize=640%2C563&ssl=1
Lt Gen Gurbirpal Singh also highlighted major achievements of the NCC in the year 2022. (तस्वीर- एनसीसी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह 06 जनवरी, 2023 को नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में मीडिया को संबोधित करते हुए)

एनसीसी के डीजी ने कहा कि गणतंत्र दिवस शिविर का उद्देश्य गणतंत्र दिवस और बीटिंग द रिट्रीट के साथ-साथ राष्ट्रीय राजधानी में होने वाली महत्वपूर्ण घटनाओं के माध्यम से कैडेट्स के व्यक्तिगत गुणों को सुधारने और उनके मूलभूत नैतिक गुणों को मजबूत कर हमारे देश की समृद्ध संस्कृति और परंपराओं को उजागर करना है।

पिछले एक साल में समूह और निदेशालय स्तर पर कई दौर की कड़ी स्क्रीनिंग के बाद आरडीसी कैडेटों का चयन किया गया है। आरडीसी-23 में पहुंचने से पहले प्रत्येक कैडेट की चार से पांच स्क्रीनिंग की गई थी।

लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने वर्ष 2022 में एनसीसी की प्रमुख उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने पुनीत सागर अभियान, शहीदों को शत शत नमन, अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, हर घर तिरंगा, यूनिटी फ्लेम रन आदि जैसी विभिन्न पहलों में कैडेट्स के योगदान की सराहना की।

एनसीसी के डीजी ने प्लास्टिक कचरे से जल निकायों को साफ करने के इस महान आयोजन में स्थानीय लोगों की भागीदारी को संगठित करके पुनीत सागर अभियान को पूरे भारत में लोकप्रिय बनाने के लिए युवा कैडेट्स के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कहा कि अब तक लगभग 13.5 लाख एनसीसी कैडेटों ने अभियान में भाग लिया है और लगभग 208 टन प्लास्टिक कचरा एकत्र किया गया था, जिसमें से 167 टन का पुनर्नवीकरण किया गया था।

लेफ्टिनेंट जनरल गुरबीरपाल सिंह ने विशेष एक भारत श्रेष्ठ भारत – स्वतंत्रता दिवस शिविर (ईबीएसबी-आईडीसी) के बारे में भी बताया, जिसे एनसीसी द्वारा दिनांक 31 जुलाई से दिनांक 16 अगस्त 2022 तक लाल किले में 75वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित किया गया था। जिसका उद्देश्य देश के प्रत्येक जिले से आने वाले कैडेटों को लाल किले पर 75वें स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम को देखने योग्य बनाना और भारत की सांस्कृतिक विविधता को प्रदर्शित करना भी है जिससे सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रमों के माध्यम से राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देना और ‘विविधता में एकता’ को मजबूत करना है।

विभिन्न खेलों में एनसीसी कैडेट्स द्वारा प्रदर्शित असाधारण प्रदर्शन की एनसीसी के डीजी ने भी सराहना की। उन्होंने आगे उल्लेख किया कि एनसीसी जूनियर गर्ल्स हॉकी टीम ने लगातार दूसरे वर्ष जवाहरलाल नेहरू हॉकी टूर्नामेंट जीता।


Discover more from VSP News

Subscribe to get the latest posts to your email.

Leave a Reply