BUSINESS

जुलाई 2021 में जीएसटी राजस्व संग्रह 1,16,393 करोड़ रुपये

जुलाई2021 में सकल जीएसटी राजस्व संग्रह 1,16,393 करोड़ रुपये रहा जिसमें सीजीएसटी 22,197 करोड़ रुपयेएसजीएसटी 28,541 करोड़ रुपयेआईजीएसटी 57,864 करोड़ रुपये (वस्‍तुओं के आयात पर संग्रहीत 27,900 करोड़ रुपये सहित) और उपकर (सेस) 7,790 करोड़ रुपये (वस्‍तुओं के आयात पर संग्रहीत 815 करोड़ रुपये सहित) शामिल हैं। उपरोक्त आंकड़ों में 1 जुलाई 2021 से 31 जुलाई 2021 के बीच दाखिल जीएसटीआर-3बी रिटर्न से प्राप्त जीएसटी संग्रह के साथ-साथ आईजीएसटी और उस अवधि के लिए आयात से प्राप्त उपकर शामिल हैं।

1 जुलाई से 5 जुलाई 2021 के बीच दाखिल 4,937 करोड़ रुपये के रिटर्न के लिए जीएसटी संग्रह को भी जून 2021 के प्रेस नोट में जीएसटी संग्रह में शामिल किया गया था क्योंकि करदाताओं को छूट/कमी के रूप में विभिन्न राहत प्रदान किए गए थे। कोविड वैश्विक महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर 5 करोड़ रुपये तक के कुल कारोबार वाले करदाताओं को जून 2021 महीने के लिए 15 दिनों की देरी से रिटर्न दाखिल करने के मामले में ब्याज पर छूट दी गई थी।

सरकार ने नियमित निपटान के रूप में आईजीएसटी से सीजीएसटी के लिए 28,087 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 24,100 करोड़ रुपये का निपटान किया है। जुलाई 2021 में नियमित निपटान के बाद केन्‍द्र सरकार और राज्‍य सरकारों द्वारा अर्जित कुल राजस्‍व सीजीएसटी के लिए 50,284 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 52,641 करोड़ रुपये है।

जुलाई 2021 महीने के लिए राजस्व संग्रह पिछले साल के इसी महीने में संग्रहीत हुए जीएसटी राजस्व के मुकाबले 33 प्रतिशत अधिक है। महीने के दौरान वस्‍तुओं के आयात से प्राप्‍त राजस्व 36 प्रतिशत अधिक रहा। जबकि घरेलू लेन-देन (सेवाओं के आयात सहित) से प्राप्‍त राजस्व पिछले साल के इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से हासिल किए गए राजस्व के मुकाबले 32 प्रतिशत अधिक रहा।

जीएसटी संग्रह लगातार आठ महीने तक 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहने के बाद जून 2021 में घटकर 1 लाख करोड़ रुपये के स्‍तर से नीचे आ गया था। जून 2021 महीने के दौरान संग्रह काफी हद तक मई 2021 से संबंधित था और मई 2021 के दौरान अधिकतर राज्‍य/केंद्र शासित प्रदेश कोविड की दूसरी लहर के कारण पूर्ण अथवा आंशिक लॉकडाउन से जूझ रहे थे। कोविड संबंधी पाबंदियों में ढील के साथ ही जुलाई 2021 के लिए जीएसटी संग्रह फिर से 1 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। इससे स्पष्ट संकेत मिलता है कि अर्थव्यवस्था में तेजी से सुधार हो रहा है।   आने वाले महीनों में भी जीएसटी राजस्व संग्रह दमदार बने रहने की संभावना है।

नीचे दी गई तालिका में जुलाई 2020 के मुकाबले जुलाई 2021 महीने के दौरान संग्रहीत जीएसटी राजस्‍व के राज्यवार आंकड़े दिए गए हैं।

 

जुलाई 2021 महीने के दौरान जीएसटी राजस्‍व में राज्यवार वृद्धि [1]

 

क्रम संख्‍या राज्‍य जुलाई 2020 जुलाई 2021 वृद्धि 
1 जम्‍मू-कश्‍मीर 298 432 45%
2 हिमाचल प्रदेश 605 667 10%
3 पंजाब 1,188 1,533 29%
4 चंडीगढ़ 137 169 23%
5 उत्‍तराखंड 988 1,106 12%
6 हरियाणा 3,483 5,330 53%
7 दिल्‍ली 2,629 3,815 45%
8 राजस्‍थान 2,797 3,129 12%
9 उत्‍तर प्रदेश 5,099 6,011 18%
10 बिहार 1,061 1,281 21%
11 सिक्किम 186 197 6%
12 अरुणाचल प्रदेश 33 55 69%
13 नागालैंड 25 28 11%
14 मणिपुर 25 37 48%
15 मिजोरम 16 21 31%
16 त्रिपुरा 48 65 36%
17 मेघालय 120 121 1%
18 असम 723 882 22%
19 पश्चिम बंगाल 3,010 3,463 15%
20 झारखंड 1,340 2,056 54%
21 ओडिशा 2,348 3,615 54%
22 छत्तीसगढ़ 1,832 2,432 33%
23 मध्‍य प्रदेश 2,289 2,657 16%
24 गुजरात 5,621 7,629 36%
25 दमन एवं दीव 77 0 -99%
26 दादरा एवं नागर हवेली 130 227 74%
27 महाराष्ट्र 12,508 18,899 51%
29 कर्नाटक 6,014 6,737 12%
30 गोवा 257 303 18%
31 लक्षद्वीप 2 1 -42%
32 केरल 1,318 1,675 27%
33 तमिलनाडु 4,635 6,302 36%
34 पुदुचेरी 136 129 -6%
35 अंडमान एवं निकोबार 18 19 6%
36 तेलंगाना 2,876 3,610 26%
37 आंध्र प्रदेश 2,138 2,730 28%
38 लद्दाख 7 13 95%
39 अन्य क्षेत्र 97 141 45%
40 केंद्र के क्षेत्राधिकार 179 161 -10%
  कुल 66,291 87,678 32%

 


[1]वस्‍तुओं के आयात पर जीएसटी शामिल नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *