Others

राजनीतिक फायदे के लिए राजस्थान को सीरिया-ईराक बनाना चाहती है गहलोत सरकार : सनवर पटेल

भोपाल। कांग्रेस पार्टी और राजस्थान में उसकी सरकार के मुखिया अशोक गहलोत को अपनी राजनीतिक जमीन के विस्तार और अपनी सरकार के अस्तित्व को बचाए रखने की ही चिंता है। उन्हें राजस्थान और उसकी शांतिप्रिय जनता से कोई मतलब नहीं है। यहां कट्टरपंथी सरेआम हिंसा का तांडव करें या आतंक फैलाएं, देश के दुश्मन अपना नेटवर्क फैलाएं, कांग्रेस की प्रदेश सरकार अंधी और गूंगी बनी रहती है। उसे तो सिर्फ अपने वोट बैंक की चिंता है, भले ही राजस्थान की स्थिति ईराक और सीरिया की तरह ही क्यों न हो जाए। यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सनवर पटेल ने उदयपुर की घटना के आरोपियों के संबंध पाकिस्तानी संगठनों से होने की बात सामने आने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।

सनवर पटेल ने कहाकि एक वर्ग विशेष के तुष्टिकरण, कट्टरवाद तथा आतंकवाद का उपयोग अपने राजनीतिक लाभ के लिए करना कांग्रेस की फितरत रही है। पहले पंजाब में, फिर कश्मीर और केरल में कांग्रेस पार्टी ने यही किया है। पश्चिम बंगाल में भी तृणमूल सरकार द्वारा एक समुदाय विशेष के अवैध घुसपैठियों को बसाने, उन्हें सरकारी सुविधाएं तथा संरक्षण देकर उनका उपयोग राजनीतिक फायदे के लिए किए जाने को कांग्रेस का मौन समर्थन हासिल है। इसके बाद अब राजस्थान कांग्रेस की नई प्रयोगशाला बन गया है, जहां कट्टरवाद को फलने-फूलने की इतनी छूट दी जा रही है कि वहां आईएसआईएस जैसे कट्टर धर्मांध संगठन जड़ें जमाने लगे हैं।

सनवर पटेल ने कहा कि उदयपुर की घटना के आरोपियों ने एनआईए की पूछताछ में बताया है कि उन्होंने कराची में आतंकवाद की ट्रेनिंग ली है और राजस्थान के कई जिलों स्लीपर सेल तैयार कर रहे थे। पटेल ने कहा कि राजस्थान के अलग-अलग शहरों में बार-बार भड़क रही सांप्रदायिक हिंसा कट्टरवाद की जड़ों के मजबूत होने और उनके विस्तार के संकेत दे रही थीं, लेकिन गहलोत सरकार इस तरफ से आंख बंद किए रही। सनवर पटेल ने कहा अगर राजस्थान सरकार ने हिंसा की इन घटनाओं में उचित कार्रवाई की होती, गंभीरता से इनकी जांच कराई जाती, तो उदयपुर की घटना को रोका जा सकता था। लेकिन वोट बैंक के मोह में बंधी गहलोत सरकार ने ऐसा नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.