RELIGIOUS

आचार्य अतिवीर जी का हुआ आगरा से दिल्ली की ओर विहार

प पू आचार्य श्री 108 अतिवीर जी मुनिराज का उत्तर प्रदेश की धर्मनगरी आगरा में धर्मप्रभावना करने के बाद देश की राजधानी दिल्ली की ओर मंगल विहार हुआ| आचार्य श्री का लगभग 2.5 महीने पूर्व एलाचार्य पद पर आगरा में प्रथम बार मंगल आगमन हुआ था| एम.डी जैन कॉलेज में विशाल जनसमुदाय के मध्य आचार्य पद प्रतिष्ठापन समारोह का आयोजन संपन्न हुआ| तत्पश्चात आगरा की विभिन्न कॉलोनियों में आचार्य श्री के पावन सान्निध्य में अनेक धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किए गए जिनके माध्यम से समस्त समाज में व्यापक रूप से जागृति व उत्साह का माहौल बना |

आचार्य श्री के स्नेह और वात्सल्य की छांव में समाज के हर वर्ग के धर्मानुरागी महानुभावों ने स्वयं को धन्य किया| आचार्य श्री के सारगर्भित मंगल प्रवचनों से जहां एक ओर जैन दर्शन के गूढ़तम रहस्यों को सरल शब्दों में समझा, वहीं दूसरी ओर जीवनयापन के सफल सूत्रों को भी जाना| आगरा विदाई से पूर्व गुरुभक्तों को सम्बोधित करते हुए आचार्य श्री ने कहा कि आगरा समाज का साधुओं के प्रति सेवाभाव व समर्पण सराहनीय है| इस अल्पप्रवास के दौरान प्रवचनों के माध्यम से जो कुछ भी सीखा उसे केवल चर्चा का विषय ना बनाते हुए अपनी चर्या में भी उतारें|

उल्लेखनीय है कि आचार्य श्री का आगरा से मथुरा, कोसीकलां, होडल, पलवल, बल्लभगढ़, फरीदाबाद आदि नगरों में धर्मप्रभावना करते हुए दिल्ली की ओर मंगल विहार होगा| आचार्य पद प्रतिष्ठापन के पश्चात् पूज्यश्री का प्रथम बार राजधानी दिल्ली में शीघ्र ही भव्य मंगल प्रवेश होगा जहां पूज्यश्री के सान्निध्य में अनेकों धार्मिक अनुष्ठान आयोजित होने वाले हैं|

– समीर जैन 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *