Uttar Pradesh

नौएडा के सैक्टर-9 एंव सैक्टर-10 को इंडस्ट्रियल रॉ मैटेरियल मार्केट (Service Industry) घोषित किया जाए: विपिन मल्हन

नौएडा एन्ट्रेप्रिनियोर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष विपिन कुमार मल्हन जी के नेतृत्व में उद्यमियों का एक प्रतिनिधिमण्डल मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्रीमती रितु माहेश्वरी जी से सैक्टर-6, नौएडा स्थित नौएडा विकास प्राधिकरण कार्यालय में मिला तथा उन्हें उद्यमियों की निम्नलिखित समस्याओं से अवगत कराया:-

विपिन कुमार मल्हन, अध्यक्ष, नौएडा एन्ट्रेप्रिनियोर्स एसोसिएशन

नौएडा विकास प्राधिकरण द्वारा कई उद्यमियों को अपने उद्योग में कामर्शियल गतिविधि चलाने हेतु नोटिस भेजे जा रहे हैं । महोदया, विगत 20 वर्षो से हमारी मॉग रही है कि सैक्टर-9 एंव सैक्टर-10 को इंडस्ट्रियल रॉ मैटेरियल मार्केट (Service Industry) घोषित किया जाए । इस संबध में हम प्राधिकरण एंव शासन स्तर पर कई बार पत्र लिखकर अवगत करा चुके हैं । नौएडा में उद्योगों में काम आने वाले रॉ-मैटेरियल की कोई मार्केट नही है जिसके कारण उद्यमियों को अपने उत्पाद में काम आने वाले कच्चे माल के लिए अन्य पड़ोसी राज्यों पर निर्भर रहता पड़ता है जिसके कारण धन एंव समय की वर्बादी होती है । महोदया, वर्तमान परिस्थितियों में 50 वर्ग मीटर से 171 वर्ग मीटर के भूखंड में इकाई चलाना संभव नही है । अतः हमारा आपसे पुनः अनुरोध है कि सैक्टर-9 तथा सैक्टर-10 की इकाईयों को पूर्ण रूप से(Service Industry) घोषित किया जाए । इस संबध में उद्यमी (Service Industry) चलाने की अनुमति देने पर प्राधिकरण को अतिरिक्त शुल्क देने को तैयार है ताकि वे अपना व्यापार सुचारू रूप से चला सकें ।

महोदया, इसी प्रकार नौएडा में कुछ उद्यमी किराये पर इकाई लेकर ऑटो मोबाईल शोरूम/सर्विस सैंटर चला रहे हैं, उन्हें भी प्राधिकरण द्वारा नोटिस दिये जा रहे हैं । महोदया पूर्व में प्राधिकरण द्वारा मिक्स लैंड यूज की पॅालिसी लाई गई थी इस पॉलिसी का लाभ भूखंड स्वामी तो उठा सकते हैं लेकिन जो किराये पर इकाई लेकर आटो मोबाईल शोरूम/सर्विस सैंटर चला रहे है उन लोगों के लिये अलग से एक पॉलिसी प्राधिकरण निर्धारित करे जैसेः- हमारा आपसे अनुरोध है कि जो उद्यमी किराये पर इकाई लेकर ऑटो मोबाईल शोरूम/सर्विस सैंटर चला रहे हैं, उनके लिए ऐसी पॉलिसी लाई जाए कि वे 5 वर्ष हेतु अनुमन्य धनराशि प्राधिकरण में जमा करा कर ऑटो मोबाईल शोरूम/सर्विस सैंटर चला सके ।

महोदया, वर्तमान में कोविड-19 जैसी महामारी से उद्यमी अपने व्यापार को लेकर काफी चिंतित व परेशान है, तथा अपने व्यापार को पटरी पर लाने का प्रयत्न कर रहे हैं, ऐसे समय में उद्यमियों को नोटिस भेजना तथा उनकी इकाई को सील करना उचित नही है । उद्यमियों का कारोबार बंद होने से उद्यमियों के साथ-साथ उनके यहॉ कार्यरत श्रमिक भी बेरोजगारी की कगार पर पहुॅच जायेगें ।
अतः हमारा अनुरोध है कि कोरोना काल में वाहन कारोबारियों पर किसी प्रकार की दंडात्मक कार्यवाही न करते हुए उन्हें राहत दी जाए ताकि वे अपना व्यापार सुचारू रूप से चला सके एंव उनके श्रमिक भी बेरोजगार न होने पाये ।
प्रतिनिधिमण्डल में एन.ई.ए. अध्यक्ष श्री विपिन कुमार मल्हन, महासचिव श्री वी0के0सेठ, उपाध्यक्ष मौ0 इरशाद उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *