BUSINESS NATIONAL

डिजिटल स्ट्राइक अब भी जारी : पबजी समेत 118 चीनी ऐप्स पर प्रतिबन्ध से नाखुश चीन

जुलाई में, सरकार ने देश में 47 चीनी ऐप्स को संचालित करने से रोक दिया था, जो जून में प्रतिबंधित किए गए पहले के 59 ऐप्स के क्लोन थे। और अब पबजी , वी चैट जैसे 118 ऐप पर प्रतिबन्ध लगा दिया है

आईटी और दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद का कहना है की, भारत एक ऐसा देश है, जो सबसे ज्यादा मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करता है और अब सरकार ने ‘मेड इन इंडिया’ ऐप पर फोकस करना शुरू कर दिया है।  “आज हमने 118 और ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है जो आपकी सुरक्षा, निगरानी … डेटा के लिए एक समस्या थी।”
आईटी मंत्रालय को विभिन्न स्रोतों से शिकायतें मिली थीं, जिनमें भारत के बाहर सर्वरों में उपयोगकर्ताओं के डेटा को चोरी करने और सुरक्षित रूप से प्रसारित करने के लिए एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफार्मों पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्टें शामिल हैं: सरकार
हालांकि पबजी खेलने वाले ज़्यादातर लोग इसकी निंदा कर रहे है , क्यूंकि काफी यूटुबर्स को इससे फायदा हो रहा था।  ख़बरों की माने तो कंप्यूटर पे चला सकते हैं पबजी।

एमईए के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव  का कहना है की, “भारत दुनिया में एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) के लिए सबसे अधिक खुले शासनों में से एक है, इसमें इंटरनेट कंपनियां और डिजिटल प्रौद्योगिकी कंपनियां शामिल हैं। हालांकि, उनके पास भारत सरकार द्वारा जारी किए गए नियमों और विनियमों का पालन करने की जिम्मेदारी है।”

कंपनियों को सरकार के नियमों और विनियमों का पालन करने की जिम्मेदारी दी गयी है: विदेश  मंत्रालय
गलवान में 20 जवानों के शहीद होने पर यह डिजिटल स्ट्राइक शुरू किया गया था और कल भी एल ए सी पर तनाव के बाद सरकार ने यह फैसला सुनाया है।
चीन के वाणिज्य मंत्रालय ने भारत में चीनी मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाने का कड़ा विरोध किया। वाणिज्य मंत्रालय के प्रवक्ता गाओ फेंग ने कहा कि भारतीय कार्रवाई चीनी निवेशकों और सेवा प्रदाताओं के कानूनी हितों का उल्लंघन करती है और चीन भारत को अपनी गलतियों को सुधारने के लिए कहता है।
टिकटोक के बैन से चीन में भारी नुकसान हुआ था और यह डिजिटल स्ट्राइक, चीन के लिए सर्जिकल स्ट्राइक से भी भारी पड़ रही है।
बैन होने वाले ऐप्स की लिस्ट;

आपको बता दें की , पबजी मोबाइल ऐप भारत में ही सबसे ज़्यादा इस्तेमाल होता था।  गूगल प्ले स्टोर पर यह गेम टॉप 5 में था। ख़बरों के मुताबिक 2020 के शुरुआत में हीं पबजी को 6 करोड़ यूज़र्स ने डाउनलोड कर लिया था। और तो और मई के महीने में दुनिया में सबसे ज़्यादा विख्यात और मुनाफे कमाने वाला गेम बन चूका था।

पबजी  को  करीब 1700 करोड़ रुपये का मुनाफा मिला था। इससे अंदाज़ा लगाया जा सकता है की भारत में बैन से सिर्फ पबजी का यूजर बेस ही काम नहीं होगा, चीन को भारी आर्थिक नुकसान भी भुगतना पड़ेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.