NATIONAL RELIGIOUS

जैन सन्त की हत्या से आक्रोशित जैन समाज ने दिया ज्ञापन- मुज़फ्फरनगर के समस्त जैन समाज

कर्नाटक में जैन संत कामकुमार नंदी की हत्या से पूरे देश का जैन समाज आक्रोशित है। मुज़फ्फरनगर, उत्तर प्रदेश के समस्त जैन समाज ने आचार्य श्री पुष्पदन्त सागर जी महाराज की प्रेरणा से दिनांक 12/7/2023 को प्रातः 11:00 बजे कलेक्ट्रेट में एकत्रित होकर महामहिम राष्ट्रपति महोदया, माननीय प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री, केंद्रीय अल्पसंख्यक आयोग,राज्यपाल कर्नाटक,मुख्यमंत्री कर्नाटक व डी. जी. पी.कर्नाटक पुलिस को संबोधित एक मांगपत्र जिलाधिकारी महोदय मुज़फ्फरनगर के माध्यम से देने का काम किया। कार्यालय मे मौके पर ए. डी. एम. ‘एफ.’ ने मौके पर प्राप्त किया जिसमे मुख्य मांगे
पूज्य मुनि श्री 108 कामकुमार नंदी जी मुनिराज की हत्या की साजिश का जल्द से जल्द खुलासा हो,
निर्मम हत्या का मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुना जाएँ,
राष्ट्रीय स्तर पर विहार के दौरान व चातुर्मास में जैन संतों की एवम
जैन धर्मावलंबियों की सुरक्षा सुनिश्चित हो,
केंद्र व सभी प्रदेशो मे जैन संरक्षण एवं सुरक्षा आयोग का गठन हो,
जैन धर्म विरोधी मानसिकता को बढ़ावा देने वाले अनूप मण्डल व अन्य संगठनों पर प्रतिबंध लगाया जाना,
सामाजिक-धार्मिक अधिकारों की रक्षा सरकारें सुनिश्चित करें व इसके साथ ही आचार्य पुष्पदन्त सागर जी महाराज के द्वारा प्रधानमंत्री को संबोधित एक हस्तलिखित पत्र भी ज्ञापन के साथ सौंपा गया।

इससे पूर्व सुबह तय समय पर जैन समाज के पुरूष, महिलाएं एवं बच्चे, जैन औषधालय में प्रवचन लाभ लेने पहुँच गये जहां आचार्य श्री ने प्रवचन के पश्चात जैनो पर हो रहे अत्याचार व मुनि श्री कामकुमार नन्दी की बर्बर हत्या के विरुद्ध भी अपने विचार रखे व आचार्य श्री के आदेश से ही जैन एकता मंच”युवा शाखा” के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव जैन ने पूरा ज्ञापन समाज के बीच पढ़ कर सुनाया तत्पश्चात सभी लोग भारी बारिश के बावजूद तय समय सुबह 10:30 बजे कलेक्ट्रट जिलाधिकारी दफ्तर पहुँच गए व मुख्य वक्ताओं ने मौके पर अपने विचार भी रखे।

ज्ञापन देने से पूर्व बोलते हुए समाज के वक्ताओं ने कहा कि जैन समाज अपने धार्मिक तीर्थो, धार्मिक स्थलों, जैन सन्तो व धर्मावलंबियों की सुरक्षा के लेकर पहले ही बहुत चिंतित है ऐसे में सन्त की निर्मम हत्या आक्रोशित करने वाली व चिंता बढ़ाने वाली घटना है साथ ही ऐसे में कर्नाटक समेत सभी केंद्र सरकार व सभी मुख्य दलों की खामोशी निराशाजनक है। जैन समाज इस सब को अब सहने वाला नही है। अगर समाज की मांगे नही मानी गयी तब हम लोग अपने लोकतांत्रिकअधिकारों की रक्षा के लिए फिर से शिखरजी आंदोलन जैसा बड़ा आंदोलन पुनः खड़ा करना पड़ा तो पीछे नही हटेंगे।

ज्ञापन कार्यक्रम में मुख्यरूप से गौरव जैन (राष्ट्रीय अध्यक्ष, जैन एकता मंच”युवा शाखा”),पुनीत जैन, भाजपा नेता रोहित जैन(अप्पू), सुनील जैन(टीकरी) नितिन जैन ( मोंटू)निपुण जैन (एडवोकेट), अमित जैन (सिद्धार्थ फर्नीचर), प्रवीण जैन हुंडई वाले, पंकज जैन गांधी (टेंट हाउस) प्रदीप जैन (कली वाले)मनोज जैन (जैन मिलन),कुलदीप जैन,महिपाल जैन,कंवर सेन जैन,गुणपाल जैन, विपिन जैन (वाटिका वाले)वैभव जैन, अजय जैन ( आइसक्रीम वाले)नितेश जैन,राजीव जैन,वरुण जैन,अक्षत जैन,सौरभ जैन,डॉ अमित जैन, वर्धमान जैन, राजेश जैन अनमोल जैन,विकास जैन,अनिल जैन, अखिलेश जैन एडवोकेट, राहुल जैन एडवोकेट, चुनमुन जैन, सिद्धांत जैन अरिहंत ग्राफी, अजय जैन जैन मिलन,सुनील जैन,विपिन जैन,अर्चित जैन,संजय जैन,मुकेश जैन,नितिन जैन,सम्यक जैन,वर्धन जैन,आकर्ष जैन,संयम जैन,अनंत जैन,प्रियांशु जैन,वैभव जैन,हर्षित जैन,ऋतिक जैन,भव्य जैन,प्रथम जैन,अंशु जैन,वंश जैन,नमन जैन,संदीप जैन,प्रवीण जैन,,राहुल जैन,कुलदीप जैन,राजीव जैन,राजेंद्र जैन,जगदीश जैन आदि रहे।


Discover more from VSP News

Subscribe to get the latest posts to your email.

Leave a Reply