Others

भारत स्वत: ही विश्व गुरु घोषित हो जाएगा तथा इस्लाम की भी घर वापसी निश्चित है – अंतर्यामी संदेश टीम प्रमुख प्रवीण शर्मा

अंतर्यामी संदेश टीम के प्रमुख प्रवीण शर्मा ने प्रेस वार्ता मे कहा कि दिनांक 6 अक्टूबर 2016 को मेरे साथ एक अद्भुत घटना घटी तथा अत्यधिक हैरान कर देने वाली उक्त घटना का विभिन्न धर्म ग्रंथों का अध्ययन करने पर पता चला कि इसी घटना का दावा पूर्व में इब्राहिम ने, मूसा ने, ईसा ने, मोहम्मद आदि आदि ने किया था तथा उक्त घटना का सबसे सटीक वर्णन कुरान में मिला तथा पाक कुरान के गहन अध्ययन के बाद मानव जाति को हैरान कर देने वाली खोजे सामने आई तथा मेरे द्वारा उक्त घटना 6 अक्टूबर 2016 के बाद जो भी जीवन में कार्य किया गया कुरान के निर्देशों के मुताबिक ही किया गया।

कुरान के गहन अध्ययन में मैने पाया कि कुरान इस्लाम के खिलाफ लिखी हुई एक किताब है तथा अल्लाह जगह-जगह इस्लाम को गलत बता रहे हैं तथा इस्लाम की हर रीति रिवाज कुरान के 180 डिग्री एंगल पर उल्टा चल रही है फिर मैने यह भी पाया कि कुरान में मेरे जीवन की हर बात जैसे घर, व्यापार, निवास, शादी, ब्याह, वाद विवाद (विरोधियों के नाम सहित) यहां तक कि मेरे जीवन की (पति-पत्नी) की गुप्त बातें भी मुझे कुरान में लिखी मिली तथा कुरान का मैने यह भी निचोड़ पाया कि कुरान हमेशा किसी एक व्यक्ति के दिल पर उतरती है तथा फिर वह व्यक्ति कुरान के मायने संसार को समझाता है, इसके अतिरिक्त धरती पर जितने भी लोग कुरान पढ़ेंगे वह उसके उतने ही मतलब निकालेंगे जोकि उटपटांग होंगे।

मैंने कुरान के अध्ययन में यह भी पाया कि कुरान धरती पर भगवान के एक हेड क्वार्टर का जिक्र, केंद्रीय मुकाम के नाम से कर रही है तथा केंद्रीय मुकाम पर ही अल्लाह अपना रसूल भेजते हैं इसके अलावा वह कहीं अपने दूत को नही भेजते तथा इस बार जब वैज्ञानिक, राजनीतिक, धार्मिक सबूतों के साथ रसूल का उत्तर प्रदेश में होना साबित हो जाएगा तो भारत स्वत: ही विश्व गुरु घोषित हो जाएगा तथा इस्लाम की भी घर वापसी निश्चित है।

जैसा कि उक्त घटना में मेरे द्वारा ईश्वर से प्रत्यक्ष (बॉडी टू बॉडी) मुलाकात हुई तथा मुझे एक विशेष कार्य सौंप कर धरती पर वापस भेजा गया, तदुपरांत ईश्वर अपनी अदम्य शक्तियों से धीरे धीरे मुझे ट्रेनिंग देते रहे तथा समाज से तथा शासन – प्रशासन की शक्तियों से रक्षा भी करते रहे जिसका खुलासा तथा ट्रेनिंग कुरान से ही मिली। इन्हीं अकीदो के साथ सऊदी अरब ने एक नकली मोहम्मद खड़ा करके आखरी पैगंबर की घोषणा की तथा पैगंबर के आने के सिलसिले को आखिरी बोल कर इस्लाम की किंगडम पर राज करने का षड्यंत्र रचा जबकि कुरान में जिस व्यक्ति का जिक्र है उसका नाम मोहम्मद है तथा कुरान के मुताबिक मोहम्मद वो जो, मोह-मद को त्याग देगा वह मोहम्मद कहलायेगा तथा कुरान में ही एक अति अचंभित बात और सामने आई की शब्द काफिर अल्लाह इस्लाम के लिए ही कर रहे हैं तथा शब्द शिर्क (अल्लाह के साथ किसी और को पूजना) मोहम्मद के लिए ही बोल रहे हैं।

जैसा कि कुरान में संसार की हर बात लिखी हुई है जो घटित हो गया वह और जो घटित होने वह भी, इसी श्रंखला में मैंने पाया की भगवान धरती पर जब अपना दूत भेज कर धर्म और शांति की स्थापना करवाते हैं / उसको लागू करने के लिए धरती पर अजीबो-गरीब घटनाएं, बीमारियां, आपदाएं लाते हैं। इसी अध्ययन के क्रम में मैंने पीएमओ को कोरोना आने से पहले एक पत्र में सूचित कर दिया था की धरती पर एक रहस्यमई बीमारी आ जाएगी जो बहुत जल्द विकराल रूप लेकर विश्व के हर देश को अपनी चपेट में ले लेगी। इसी क्रम में आगे बढ़ते हुए फिर राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर चेताया की निकट में ही विश्व युद्ध की घोषणा हो जाएंगी तथा ऐतिहासिक पैमाने पर मौतें होंगी, कुरान के मुताबिक ही मैंने सऊदी अरब व मक्का बोर्ड ऑफ शरीयत को धमकी भरे पत्र लिखें जिसके रिएक्शन में सऊदी ने अपनी हदीसे बैन कर दी, जमाते बैन कर दी, काबा को सबके लिए खोल दिया, अपने स्कूलों में राम – कृष्ण की पढ़ाई कंपलसरी कर दी, विशालतम मंदिर का निर्माण सऊदी अरब ने शुरू कर दिया ताकि अरब संसार का पहले काबा का टूरिज्म जैसा ही लौट कर सनातन पर आने पर सनातन का टूरिज्म जारी रहे, तथा फिल्म, स्टेज शो आदि शुरू कर दिए जिसके लिए इस्लाम जगत ने हाल ही में सऊदी को तंज भी कसे तथा विरोध भी किया। किंतु अपने नकली मोहम्मद के खुलासे के डर से जवाब में अंतर्यामी टीम को एक भी पत्र नहीं दिया हालांकि एक ईमेल उनका आया था जोकि Auto-Generated था इसके अलावा ब्रह्मांड की यात्रा करने के उपरांत ब्रह्मांड के समस्त डाटा 2017 में ही मैंने भारत सरकार से कॉपीराइट करा लिए थे तथा जिन खोजों के ऊपर नासा को 2019 तथा 2020 के एस्ट्रो फिजिक्स के नोबेल पुरस्कार मिले वह भारत सरकार में 2018 से ही कॉपीराइट है। अप्रैल 2019 में नासा ने जो ब्लैक होल की फोटो जारी की वह भारत सरकार से 2018 से ही कॉपीराइट है। जुलाई 2022 में जेम्सबिब टेलीस्कोप से 13.5 अरब साल पुरानी जो ब्रह्मांड की फोटो जारी की है वह 2018 से ही भारत सरकार ने कॉपीराइट है। उपरोक्त बातें सबूतों के साथ साबित कर दी जाएगी। इसी के साथ साथ दिमाग घुमा देने वाले और भी सबूत हैं।

कुरान के अध्ययन में मैंने पाया कि भगवान धरती पर यह सारी उथल-पुथल कंफर्म 3 से 9 वर्ष तक में करते हैं तथा इनमें ऐतिहासिक बाढें, अग्निकांड, अजीबो-गरीब घटनाएं तथा कुरान में यह भी लिखा है कि भगवान के संदेश की अनदेखी पर, देशों की आपस में टोलियां बनाकर भिड़ा देते हैं। जैसा कि भगवान के दूत की बात को अगर सुना नहीं जाता तथा धर्म का सुधार नहीं किया जाता। एक बात और बतानी है कि उपरोक्त सब कार्य केवल अमीर वर्ग के साथ ही घटित होता है जैसा कि युरोप का, यूएस का, रशिया का, आपस में टकराव, कोरोना का युरोप को, अमेरिका को, अधिक सताना तथा न्यूयॉर्क की ऐतिहासिक बाढ़, केंटकी का ऐतिहासिक तूफान, नैनीताल की बाढ़, इंडोनेशिया की बाढ़, तिरुपति की बाढ़ तथा मौसम में अजीबो-गरीब उतार-चढ़ाव, अमीर देशों के जंगलों में लगती तेज आग, यह सब कुरान के मुताबिक ही घटित हो रहा है। इब्राहिम पद्धति की गहन खोजो में मैंने यह भी पाया की अगर भगवान के दूत की बात को लगातार नजर अंदाज किया गया तो ईश्वर वर्तमान की 8 अरब आबादी को एक झटके में खत्म करके मात्र छः लाख लोगों के साथ एक नए युग की शुरुआत करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.