NATIONAL POLITICAL

कर्नाटक मे कांग्रेस की तीसरी गारंटी – ‘गृहलक्ष्मी’ की हुई शुरुआत

1.35 करोड़ घर की महिला मुखिया के खाते में हर महीने ₹2,000

कांग्रेस पार्टी द्वारा आज देश व दुनिया में एक नया इतिहास रचने की शुरुआत होगी। कर्नाटक में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की सरकार आज ‘‘गृहलक्ष्मी’’ कांग्रेस गारंटी स्कीम की शुरुआत आज शाम को करेगी। यह देश व दुनिया की सबसे बड़ी ‘‘महिला डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर (DBT) स्कीम’’ है।

कर्नाटक चुनाव से पहले श्री मल्लिकार्जुन खरगे व श्री राहुल गांधी ने महंगाई से लड़ने के लिए महिलाओं को ताकत देने का आह्वान किया था। तत्कालीन विपक्ष के नेता व मौजूदा मुख्यमंत्री, श्री सिद्धारमैया, प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष व उपमुख्यमंत्री, श्री डी के शिवकुमार तथा कांग्रेस के एक-एक नेता व कार्यकर्ता ने इसे एक मिशन के तौर पर लिया। महिलाओं से व्यापक चर्चा हुई। साफ तौर से सामने आया कि कर्नाटक व देश की महिलाएं ‘‘भाजपा निर्मित महंगाई’’ से पीड़ित हैं। ₹400 का गैस सिलेंडर ₹1150 का हो गया। खाने का तेल ₹200 प्रति लीटर हो गया। दालें ₹150 से ₹200 प्रति किलो हो गईं। अब तो ₹300 प्रति किलो का टमाटर भी मुँह चिढ़ाता है। यही हालत खाने-पीने की सभी वस्तुओं की है। राहत देने की बजाय मोदी सरकार ने दूध, दही, पनीर, बिस्कुट व हर वस्तु पर जीएसटी लगाकर कीमतों में और आग लगा दी। इस यथास्थिति को देखते हुए निर्णय हुआ कि गृहलक्ष्मी स्कीम से हर माह हर घर की महिला मुखिया के खाते में कांग्रेस की सरकार ₹2,000 देगी। यह सपना आज पूरा हो रहा है, जब स्कीम की रजिस्ट्रेशन की शुरुआत की जा रही है। इसके मुख्य बिंदु हैंः

1.     दुनिया की सबसे बड़ी महिला DBT स्कीम – गृहलक्ष्मी से हर घर की महिला मुखियाा के खाते में कर्नाटक की कांग्रेस सरकार हर महीने ₹2,000 जमा करेगी। इंकम टैक्स देने वाले घरों को छोड़कर यह स्कीम जाति और धर्म के बंधन तोड़कर सबके लिए है।

2.     गृहलक्ष्मी का पैसा महिलाओं के खाते में 15 से 20 अगस्त के बीच जाना शुरू हो जाएगा। प्राथमिक रजिस्ट्रेशन के लिए 1 महीना रखा गया है, परंतु रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया निरंतर जारी रहेगी।

3.     इस साल गृहलक्ष्मी स्कीम का पैसा 1,11,00,000 (1.11 करोड़) महिलाओं को मिलेगा। इसके लिए इस साल ₹18,000 करोड़ का बजट प्रावधान रखा गया है।

अगले साल तक गृहलक्ष्मी का लाभ लेने वाली महिलाओं की संख्या 1,35,00,000 (1.25 करोड़) हो जाएगी। हर साल ₹30,000 करोड़ महिलाओं के खाते में सीधा जमा होगा।

कर्नाटक में 1.28 करोड़ राशन कार्ड परिवारों में मुखिया यानि हेड ऑफ फैमिली महिला है। इसके साथ-साथ बाकी परिवार भी रजिस्ट्रेशन करवा इस स्कीम का लाभ उठा पाएंगे।

4.     गृहलक्ष्मी स्कीम की रजिस्ट्रेशन आज शाम 5 बजे कर्नाटक की विधानसभा से होगी। महिलाएं गृहलक्ष्मी स्कीम की रजिस्ट्रेशन के लिए सरकार द्वारा स्थापित 7,000 ‘‘बापूजी सेवा केंद्र’’ की सुविधाएं ग्रामीण इलाकों में तथा ‘‘कर्नाटका-1/बैंगलोर-1’’ केंद्रों की सुविधा शहरी इलाकों में ले सकेंगी। इसके अलावा, कांग्रेस सरकार ने स्वेच्छा के आधार पर ‘‘प्रजा प्रतिनिधि’’ को चिन्हित करने का निर्णय लिया है। यह प्रजा प्रतिनिधि हर घर का दरवाजा खटखटाकर मोबाईल ऐप के माध्यम से रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे। भाजपा निर्मित महंगाई पर कर्नाटक की महिलाओं व कांग्रेस का यह साझा प्रहार है। अभी भी देर नहीं कि प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी कर्नाटक द्वारा दिखाए रास्ते से सीख लें व गैस सिलेंडर, पेट्रोल, डीजल तथा जरूरी वस्तुओं की कीमत कम करें। प्रदेश व देश के लोगों की कल्याणकारी मदद को ‘रेवड़ी’ बताकर उनको अपमानित करने की बजाय भारत के संविधान में सरकार की कल्याणकारी भूमिका की जिम्मेवारी का निर्वहन करें।


Discover more from VSP News

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

Leave a Reply