NATIONAL POLITICAL

इस ‘इंडिया’ ने ही अंग्रेजों की ईस्ट इंडिया कंपनी और इंडियन मुजाहिदीन को हराया था- कांग्रेस अध्यक्ष खरगे

पीएम मोदी इंडिया गठबंधन की सफलता से घबराकर दिशाहीन हो गए हैं

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इंडिया गठबंधन को लेकर की गई टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पार्टी ने करारा पलटवार किया है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि पीएम मोदी इंडिया गठबंधन की सफलता से घबरा गए हैं और दिशाहीन हो गए हैं। इस ‘इंडिया’ ने ही अंग्रेजों की ईस्ट इंडिया कंपनी और इंडियन मुजाहिदीन को हराया था। अंग्रेजों के गुलाम तो भाजपा के राजनीतिक वंशज थे। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और कांग्रेस संचार विभाग के प्रभारी जयराम रमेश ने भी ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री मोदी के बयान का करारा जवाब दिया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रधानमंत्री मोदी पर करारा पलटवार करते हुए कहा कि पीएम मोदी विपक्षी दलों द्वारा अपना नाम इंडिया रखे जाने से क्यों डर रहे हैं? पीएम मोदी इंडिया की सफल बैठकों से घबराए हुए हैं। विपक्ष देश को दिशा दे रहा है। पीएम मोदी दिशाहीन हो गए हैं, उन्हें समझ नहीं आ रहा कि क्या करें और कैसे करें।

खरगे ने कहा कि आज मणिपुर जल रहा है। मणिपुर में बलात्कार हो रहे हैं, घर तबाह हो रहे हैं। इंडिया मणिपुर की बात कर रहा है, मगर प्रधानमंत्री जी ईस्ट इंडिया की बात कर रहे हैं। सदन के बाहर इंडिया को ईस्ट इंडिया कंपनी कह रहे हैं। कांग्रेस पार्टी हमेशा ‘मदर इंडिया’ यानी ‘भारत माता’ के साथ रही है। अंग्रेज़ों के ग़ुलाम तो भाजपा के राजनीतिक वंशज ही थे। प्रधानमंत्री देश का ध्यान भटकना बंद करें। प्रधानमंत्री संसद में आएं और मणिपुर मुद्दे पर बोलें। मणिपुर हिंसा सभी पूर्वोत्तर राज्यों के लिए चिंता का विषय है। मणिपुर के बाद अब मेघालय, मिजोरम में स्थिति बिगड़ रही है।

वहीं पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट के जरिए कहा कि प्रधानमंत्री जो कहना चाहते हैं, कह लीजिए। हम भारत हैं। हम इंडिया की विचारधारा को मणिपुर में फिर से स्थापित करेंगे। हम मणिपुर की हर मां और बच्चे की आंखों से आंसू पोछेंगे। हम मणिपुर के सभी लोगों के लिए प्यार और शांति वापस लाएंगे।

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी से कहा कि इंडिया के मूल में संविधान की भावना है। राजनीति के चलते इंडिया के लिए पीएम मोदी ने नकारात्मक और अपमानजनक रूख अपना रखा है। बार-बार देश के नाम के साथ नकारात्मक मायने जोड़ना पीएम पद की गरिमा के प्रति उचित नहीं है। देश के लोग नकारात्मक नहीं, सकारात्मक राजनीति चाहते हैं। संसद में मणिपुर पर देश पीएम की बात सुनना चाहता है। देश महंगाई और बेरोजगारी पर जवाब चाहता है।

कांग्रेस संचार विभाग के प्रभारी जयराम रमेश ने कहा कि यह स्पष्ट है कि प्रधानमंत्री 26 दलों के ‘इंडिया’ से बहुत परेशान हैं। प्रधानमंत्री लगभग मृत एनडीए को नया जीवन देने की कोशिश कर रहे हैं, बल्कि आज सुबह उन्होंने इसे नेशनल डिफेमेशन एलायंस का एक नया अर्थ भी दिया है। प्रधानमंत्री जब चारों तरफ़ से घिर जाते हैं तो यही करते हैं, इनकार करना, ध्यान भटकाना और बदनाम करना।


Discover more from VSP News

Subscribe to get the latest posts to your email.

Leave a Reply